• Wed. May 12th, 2021

News before it is news

महाराष्ट्रः कोरोना काल में मंत्रियों के बंगले की मरम्मत में खर्च हो गए 90 करोड़

ByAkhlaque Sheikh

Dec 14, 2020


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
– फोटो : पीटीआई (फाइल)

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for simply ₹299 Restricted Interval Supply. HURRY UP!

ख़बर सुनें

वैश्विक कोरोना महामारी से सर्वाधिक प्रभावित रहे महाराष्ट्र में चौकाने वाली जानकारी सामने आई है। कोरोना काल में राज्य की आर्थिक स्थिति विकट हुई है, जिससे सरकारी खजाने पर भारी वित्तीय दबाव के चलते विकास योजनाओं में कटौती की गई है। लेकिन इसी संकट के दौरान महाआघाड़ी सरकार के मंत्रियों के बंगलों की मरम्मत में 90 करोड़ रुपए खर्च कर दिए गए। यह जानकारी सामने आने के बाद विपक्ष ने ठाकरे सरकार पर जोरदार हमला बोला है।

विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने इस मुद्दे पर ध्यान आकर्षित किया। उसके बाद, उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में ठाकरे सरकार की खिंचाई की। दरेकर ने कहा कि किसी आपातस्थिति में क्या खर्च करना है, क्या यह आप नहीं जानते? आपको इस बात से अवगत होना चाहिए कि आप किस चीज को प्राथमिकता देना चाहते हैं।

वहीं, विपक्ष के नेता देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि बंगले में खर्च के लिए पैसे हैं तो किसानों की मदद के लिए सरकार के पास पैसे क्यों नहीं है। वहीं, राज्यमंत्री सतेज पाटिल ने कहा कि पिछले 5 सालों से बंगलों की मरम्मत नहीं हुई थी। इसलिए मरम्मत कराना जरूरी था।

वहीं, उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि कोरोना काल में मंत्रियों के बंगलों के नवीनीकरण पर 90 करोड़ रुपये खर्च होने की रिपोर्ट सही नहीं है। मुझे नहीं पता कि उन्हें यह आंकड़ा कहां से मिला है। संबंधित विभाग के अनुसार, खर्च का डाटा अभी तक अपडेट नहीं किया गया है।

किस मंत्री के बंगले परे खर्च हुआ कितना धन

रिपोर्ट के अनुसार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के वर्षा बंगले के लिए three.26 करोड़, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की देवगिरी बंगले के लिए 1.78 करोड़, पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के सतपुडा बंगले की मरम्मत के लिए 1.33 करोड़, राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट के स्टोन रॉयल के लिए 2.26 करोड़, पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चव्हाण के मेघदूत बंगले पर 1.46 करोड़, सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे के चित्रकूट बंगले पर three.89 करोड़, उद्योग मंत्री सुभाष देसाई की शिवनेरी बंगले पर 1.44 करोड़, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल के रामटेक बंगले पर 1.67 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं।

सार

उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि कोरोना काल में मंत्रियों के बंगलों के नवीनीकरण पर 90 करोड़ रुपये खर्च होने की रिपोर्ट सही नहीं है। मुझे नहीं पता कि उन्हें यह आंकड़ा कहां से मिला है। संबंधित विभाग के अनुसार, खर्च का डाटा अभी तक अपडेट नहीं किया गया है…

विस्तार

वैश्विक कोरोना महामारी से सर्वाधिक प्रभावित रहे महाराष्ट्र में चौकाने वाली जानकारी सामने आई है। कोरोना काल में राज्य की आर्थिक स्थिति विकट हुई है, जिससे सरकारी खजाने पर भारी वित्तीय दबाव के चलते विकास योजनाओं में कटौती की गई है। लेकिन इसी संकट के दौरान महाआघाड़ी सरकार के मंत्रियों के बंगलों की मरम्मत में 90 करोड़ रुपए खर्च कर दिए गए। यह जानकारी सामने आने के बाद विपक्ष ने ठाकरे सरकार पर जोरदार हमला बोला है।

विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने इस मुद्दे पर ध्यान आकर्षित किया। उसके बाद, उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में ठाकरे सरकार की खिंचाई की। दरेकर ने कहा कि किसी आपातस्थिति में क्या खर्च करना है, क्या यह आप नहीं जानते? आपको इस बात से अवगत होना चाहिए कि आप किस चीज को प्राथमिकता देना चाहते हैं।

वहीं, विपक्ष के नेता देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि बंगले में खर्च के लिए पैसे हैं तो किसानों की मदद के लिए सरकार के पास पैसे क्यों नहीं है। वहीं, राज्यमंत्री सतेज पाटिल ने कहा कि पिछले 5 सालों से बंगलों की मरम्मत नहीं हुई थी। इसलिए मरम्मत कराना जरूरी था।

वहीं, उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि कोरोना काल में मंत्रियों के बंगलों के नवीनीकरण पर 90 करोड़ रुपये खर्च होने की रिपोर्ट सही नहीं है। मुझे नहीं पता कि उन्हें यह आंकड़ा कहां से मिला है। संबंधित विभाग के अनुसार, खर्च का डाटा अभी तक अपडेट नहीं किया गया है।

किस मंत्री के बंगले परे खर्च हुआ कितना धन

रिपोर्ट के अनुसार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के वर्षा बंगले के लिए three.26 करोड़, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की देवगिरी बंगले के लिए 1.78 करोड़, पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के सतपुडा बंगले की मरम्मत के लिए 1.33 करोड़, राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट के स्टोन रॉयल के लिए 2.26 करोड़, पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चव्हाण के मेघदूत बंगले पर 1.46 करोड़, सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे के चित्रकूट बंगले पर three.89 करोड़, उद्योग मंत्री सुभाष देसाई की शिवनेरी बंगले पर 1.44 करोड़, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल के रामटेक बंगले पर 1.67 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »