• Wed. May 12th, 2021

News before it is news

बैंक में पैसे रखने वालों के लिए बुरी खबर

ByAkhlaque Sheikh

Mar 31, 2021


फोटो: पीटीआई / फ़ाइल

बैंक में पैसे रखने वालों के लिए बुरी खबर, PPF सहित कई बचत योजनाएं भी घटाई गई ब्याज दर

नई दिल्ली: सरकार ने बुधवार को लोक भविष्य निधि (पीसीबीएफ) और एनएससी (राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र) सहित लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 1.1 प्रतिशत की कटौती की। यह एक अप्रैल से 2021-22 की पहली तिमाही के लिए की गयी है। ब्याज दर में घटने के रुझान के अनुरूप यह कदम उठाया गया है। वित्त मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार, पीसीएफ पर ब्याज zero.7 प्रतिशत कम कर 6.four प्रतिशत जबकि एनएससी पर zero.9 प्रतिशत कम कर 5.9 प्रतिशत कर दी गयी।) लघु बचत योजनाओं पर ब्याज तिमाही के आधार पर सशर्त की जाती है।

अधिसूचना के अनुसार, वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही अप्रैल-जून अवधि के लिए विभिन्न लघु बचत योजनाओं पर ब्याज इकाइयों को संशोधित की गयी हैं। पंचवर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दर zero.9 प्रतिशत जीकर 6.5 प्रतिशत कर दी गयी है। इस योजना के तहत ब्याज तिमाही आधार पर दिया जाता है। पहली बार बचत खाते में जमा राशि पर ब्याज zero.5 प्रतिशत जीकर three.5 प्रतिशत कर दी गयी है। अबतक इस पर सालाना four प्रतिशत ब्याज मिलता था।

ब्याज में अधिकतम 1.1 प्रतिशत की कटौती एक वर्ष की मियादी जमा राशि पर की गयी है। अब इस पर ब्याज four.four प्रतिशत होगा जो अबतक 5.5 प्रतिशत था। इसी प्रकार, दो साल के लिए मियादी जमा पर पर ब्याज zero.5 प्रतिशत भाकर 5 प्रतिशत, तीन साल की अवधि के मियादी जमा पर ब्याज zero.four प्रतिशत कम किया गया है जबकि पांच साल के लिए मियादी जमा पर ब्याज zero.9 प्रतिशत कम कर 5.eight प्रतिशत कर दिया है गया है।

बालिकाओं के लिए बचत योजना सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर ब्याज 2021-22 की पहली तिमाही के लिए zero.7 प्रतिशत गकर 6.9 प्रतिशत कर गई है। किसान विकास पत्र पर सालाना ब्याज दर zero.7 प्रतिशत कम कर 6.2 प्रतिशत कर दी गयी है। अबतक इस पर ब्याज 6.9 प्रतिशत था। वित्त मंत्रालय ने 2016 में ब्याज दर तिमाही आधार पर तय किए जाने की घोषणा करते हुए कहा था कि लघु बचत योजनाओं पर ब्याज सरकार की तालिका के प्रतिफल के साथ संलग्न होंगे।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »